Shri. Sirimala Sambanna

Message from Desk

SHRI. SIRIMALA SAMBANNA, Deputy Commissioner
Kendriya Vidyalaya Sangathan, Regional Office, Bangalore
Message of Deputy Commissioner
विद्या ददाति विनयं, विनयाद् याति पात्रताम्।
पात्रत्वात् धनमाप्रोति धनात् धर्मं तत: सुखम्।।
विद्या विनय देती है, विनय से पात्रता, पात्रता से धन, धन से धर्म और धर्म से सुख प्राप्त होता है।

शिक्षा मनुष्य की वह नींव है, जिस पर मनुष्य का भविष्य निर्मित होता है। केंद्रीय विद्यालय संगठन, अपने शिक्षा के प्रति निरंतर प्रयासों से ज्ञान की जोत को भारतवर्ष में प्रज्ज्वलित करने का सार्थक प्रयास कर रहा है। इस संगठन के मेरे सभी वरिष्ठ अधिकारी, सहकर्मी, शिक्षक और कर्मचारी अपने पूरे समर्पण भाव के साथ शिक्षा को प्रत्येक विद्यार्थी तक पहुंचाने का सार्थक प्रयास कर रहे हैं।
केंद्रीय विद्यालय संगठन के विद्या रूपी वातावरण में अपना भविष्य निर्मित कर रहे सभी विद्यार्थियों के सुनहरे भविष्य की मैं कामना करता हूं।
धन्यवाद।

(Shri. Sirimala Sambanna )